बड़ा फैसला: सीबीएसई बोर्ड ने 10वीं के छात्रों को दी बड़ी राहत, बेसिक मैथ्स वाले 11वीं क्लास में पढ़ सकेंगे गणित

सीबीएसई बोर्ड: सीबीएसई ने छात्रों को मानक गणित में प्रवेश लेने की अनुमति दी है, लेकिन सीबीएसई ने निर्देश दिया है कि स्कूलों के प्राचार्य तय करेंगे कि छात्र मानक गणित की पढ़ाई कर पाएगा या नहीं।

सीबीएसई बोर्ड का बड़ा फैसला

10वीं कक्षा में बेसिक गणित की पढ़ाई कर रहे छात्रों के लिए एक राहत भरी खबर है. दरअसल, केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने उन सभी छात्रों को गणित लेने की इजाजत दे दी है। जिन छात्रों ने कोरोना संक्रमण के दौरान हाई स्कूल में बेसिक गणित की पढ़ाई की है और अब 11वीं में गणित लेना चाहते हैं। आपको बता दें कि सीबीएसई ने अपने सभी स्कूलों में एडमिशन लेने की मंजूरी दे दी है। बोर्ड की इस व्यवस्था से हजारों छात्रों को राहत मिलेगी।

बोर्ड ने कोविड  को देखते हुए यह फैसला लिया है

कोरोना संक्रमण के दौरान छात्रों की पढ़ाई काफी हद तक प्रभावित हुई थी। इससे पहले सीबीएसई बोर्ड ने 11वीं कक्षा में केवल उन्हीं छात्रों को गणित लेने की अनुमति दी थी जिन्होंने सीबीएसई बोर्ड की 10वीं कक्षा में गणित पढ़ा था। बोर्ड ने यह फैसला कोरोना संक्रमण को देखते हुए लिया है। बोर्ड के निर्देश जिले के 123 सीबीएसई स्कूलों तक पहुंच चुके हैं।

CBSE Exam 2023 Datesheet: सीबीएसई ने जारी कर दी है datesheet ,अगले साल 15 फरवरी से होगी 10वीं की परीक्षा

इस सत्र के लिए स्वीकृति मिल गई है

आपको बता दें कि यह नियम इसी सत्र में ही लागू होगा। सीबीएसई ने छात्रों को मानक गणित में प्रवेश लेने की अनुमति दी है, लेकिन सीबीएसई ने निर्देश दिया है कि स्कूलों के प्राचार्य तय करेंगे कि छात्र मानक गणित का अध्ययन कर पाएगा या नहीं।

दो में विभाजित किया गया था

बता दें कि सीबीएसई ने यह फैसला कोरोना संकट को देखते हुए लिया था, जिसमें पिछले साल गणित विषय को दो भागों में बांटा गया था. पहला बेसिक और दूसरा स्टैंडर्ड मैथमेटिक्स। ऐसे छात्र जो आगे गणित का अध्ययन नहीं करना चाहते थे, उन्होंने अपनी पढ़ाई बेसिक गणित से की। वहीं, आगे भी गणित में रुचि रखने वाले यानी कक्षा 11 में गणित पढ़ने वाले छात्रों ने मानक गणित के साथ अपनी पढ़ाई जारी रखी।

वहीं, इसके बाद भी बेसिक गणित पढ़ने वाले कुछ छात्रों ने मानक गणित को और आगे भी पढ़ने की इच्छा जताई। इसी के चलते सीबीएसई ने अब छात्रों के हित में फैसला लेते हुए ऐसे छात्रों को 11वीं कक्षा में मानक गणित पढ़ने की अनुमति दे दी है।

सीबीएसई 10वीं, 12वीं बोर्ड 2023: केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) ने शुक्रवार को कक्षा 12 के अंतिम परीक्षा परिणाम 2022 की घोषणा की और कहा कि 2023 बैच के लिए, अंतिम परीक्षा 15 फरवरी से शुरू होगी।

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) ने शुक्रवार को कक्षा 12वीं का फाइनल परीक्षा परिणाम 2022 घोषित किया और कहा कि 2023 बैच के लिए अंतिम परीक्षा 15 फरवरी से शुरू होगी। वहीं, वर्ष 2023 में बोर्ड परीक्षा होगी। टर्म 1 और टर्म 2 के पैटर्न में आयोजित नहीं किया जाएगा। परीक्षा केवल एक सत्र में आयोजित की जाएगी।

सीबीएसई ने साल में एक बार बोर्ड परीक्षा आयोजित करने की पारंपरिक प्रथा पर वापस जाने का फैसला किया है। वर्ष 2022 में, COVID-19 को देखते हुए, ये परीक्षाएं टर्म 1 और टर्म 2 पैटर्न में आयोजित की गईं। सीबीएसई ने 12वीं के नतीजों की घोषणा करते हुए कहा कि थ्योरी पेपर में टर्म 1 को 30% वेटेज और टर्म 2 को 70% वेटेज दिया गया है।

Download PDF सीबीएसई कक्षा 12 वीं Datesheet 2023- सीधा लिंक

प्रैक्टिकल के लिए दोनों पदों को समान महत्व दिया गया है। इस साल 92.71 फीसदी छात्रों ने 12वीं की परीक्षा पास की है, जिसमें लड़कियों ने लड़कों से 3.29 फीसदी बेहतर प्रदर्शन किया है. आपको बता दें, 12वीं कक्षा की कंपार्टमेंट परीक्षा 23 अगस्त से शुरू होगी.

Download PDF सीबीएसई कक्षा 10वीं Datesheet 2023- सीधा लिंक

वर्ष 2023 बैच के छात्रों को अपनी परीक्षा से संबंधित नियमित अपडेट के लिए बोर्ड की वेबसाइट cbse.nic.in या cbse.gov.in पर जाना होगा। परीक्षा की डेटशीट और अन्य जानकारी नोटिफिकेशन में प्रकाशित की जाएगी।

क्या सिलेबस बढ़ेगा?

इस बार कोरोना वायरस के कारण परीक्षा देरी से आयोजित की गई। अब, बोर्ड सामान्य स्थिति की ओर एक और कदम उठाने की कोशिश कर रहा है। ऐसा करते हुए सीबीएसई ने सिलेबस में भी बदलाव किया है। लगभग दो साल से कम के पाठ्यक्रम पर परीक्षा आयोजित करने के बाद सीबीएसई अगले साल 100% पाठ्यक्रम पर परीक्षा आयोजित कर सकता है। बोर्ड के विशेषज्ञों की मदद से एक बार फिर पाठ्यक्रम को सुव्यवस्थित किया जा सकता है। पाठ्यक्रम से संबंधित अधिक जानकारी बोर्ड की आधिकारिक वेबसाइट पर जारी की जाएगी।

Recent Post

Leave a Comment

Your email address will not be published.